Kisi Roj Barish Jo Aaye Song Lyrics

Kisi Roj Barish Jo Aaye Song Lyrics

KISI ROJ BARISH JO AAYE – LYRICS

Main rahoon ya na rahoon
Tum mujhmein baaki rehna
Mujhe neend aaye jo aakhiri
Tum khwaabon mein aate rehna

Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna

Main rahoon ya na rahoon
Tum mujhmein baaki rehna

Kisi roz barish jo aaye
Samajh lena boondon mein main hoon
Subah dhoop tum ko sataaye
Samajh lena kirnon mein main hoon

Kisi roz barish jo aaye
Samajh lena boondon mein main hoon
Subah dhoop tum ko sataaye
Samajh lena kirnon mein main hoon

Kuchh kahoon ya na kahoon
Tum mujhko sada sunte rehna

Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna

Hawaaon mein lipta hua main
Ghuzar jaaunga tumko chhu ke
Agar man ho to rok lena
Thehar jaaunga in labon pe

Hawaaon mein lipta hua main
Ghuzar jaaunga tumko chhu ke
Agar man ho to rok lena
Thehar jaaunga in labon pe

Main dikhoon ya na dikhoon
Tum mujhko mehsoos karna

Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna

Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna
Bas itna hai tumse kehna


LYRICS IN HINDI

मैं रहूँ या ना रहूँ
तुम मुझमे कहीं बाकी रहना
मुझे नींद आये जो आखिरी
तुम ख्वाबो में आते रहना

बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
मैं रहूँ या ना रहूँ
तुम मुझमे कहीं बाकी रहना

किसी रोज़ बारिश जो आये
समझ लेना बूंदों में मैं हूँ
सुबह धुप तुमको सताए
समझ लेना किरणों में मैं हूँ

किसी रोज़ बारिश जो आये
समझ लेना बूंदों में मैं हूँ
सुबह धुप तुमको सताए
समझ लेना किरणों में मैं हूँ

कुछ कहूँ या ना कहूँ
तुम मुझको सदा सुनते रहना

बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना

हज़ार बार सोचा, कह दूं
की फ्रेंड नहीं मेरी गर्लफ्रेंड हैं तू
पर सपने टूट जाने का डर
कभी दिल से गया ही नहीं

हवाओं में लिपटा हुआ मैं
गुज़र जाऊँगा तुमको छू के
अगर मन हो तो रोक लेना
ठहर जाऊँगा इन लबों पे

हवाओं में लिपटा हुआ मैं
गुज़र जाऊँगा तुमको छू के
अगर मन हो तो रोक लेना
ठहर जाऊँगा इन लबों पे

मैं दिखू या ना दिखू
तुम मुझको महसूस करना

बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना

बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
मैं रहूँ या ना रहूँ
तुम मुझमे कहीं बाकी रहना

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *